best platform for news and views

ਖਾਲਿਸਤਾਨ ਕਮਾਂਡੋ ਫੋਰਸ ਦੇ ਮੁਖੀ ਦੀ ਕੋਠੀ ‘ਚ ਕੱਟੀ ਕੇਜਰੀਵਾਲ ਨੇ ਰਾਤ : ਸਰਕਾਰੀ ਗੈਸਟ ਹਾਊਸ ਨਾ ਆਇਆ ਪਸੰਦ

Please Click here for Share This News

ਮੋਗ : ਪੰਜਾਬ ਵਿਧਾਨ ਸਭਾ ਚੋਣਾ ਲਈ ਅਖਾੜਾ ਦਿਨ ਬ ਦਿਨ ਭਖਦਾ ਜਾ ਰਿਹਾ ਹੈ ਅਤੇ ਆਗੂਆਂ ਵਲੋਂ ਇਕ ਦੂਜੇ ਖਿਲਾਫ ਦੂਸ਼ਣਬਾਜੀ ਦਾ ਸਿਲਸਲਾ ਵਧਦਾ ਜਾ ਰਿਹਾ ਹੈ, ਜਿਥੇ ਆਮ ਆਦਮੀ ਪਾਰਟੀ ਵਲੋਂ ਅਕਾਲੀ ਦਲ ਅਤੇ ਕਾਂਗਰਸ ਖਿਲਾਫ ਲੋਕਾਂ ਨੂੰ ਭੜਕਾਇਆ ਜਾ ਰਿਹਾ ਹੈ, ਉਥੇ ਆਮ ਆਦਮੀ ਪਾਰਟੀ ਦੇ ਮੁਖੀ ਅਰਵਿੰਦਰ ਕੇਜਰੀਵਾਲ ਦੇ ਖਾਲਿਸਤਾਨ ਕਮਾਂਡੋ ਫੋਰਸ ਨਾਲ ਕਥਿਤ ਸਬੰਧਾਂ ਦਾ ਮਾਮਲਾ ਉਸ ਵੇਲੇ ਸਾਹਮਣੇ ਆਇਆ ਜਦੋਂ ਸ੍ਰੀ ਕੇਜਰੀਵਾਲ ਨੇ ਮੋਗਾ ਵਿਖੇ ਖਾਲਿਸਤਾਨ ਕਮਾਂਡੇ ਫੋਰਸ ਦੇ ਮੁਖੀ ਰਹੇ ਗੁਰਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਦੀ ਕੋਠੀ ਵਿਚ ਰਾਤ ਕੱਟੀ, ਪਰ ਉਹ ਆਮ ਆਦਮੀ ਵਲੋਂ ਕੀਤੀ ਗਈ ਰੈਲੀ ਵਿਚ ਨਹੀਂ ਗਏ। ਇਸ ਸਬੰਧੀ ਹਿੰਦੀ ਦੇ ਪ੍ਰਸਿੱਧ ਅਖਬਾਰ ਦੈਨਿਕ ਭਾਸਕਰ ਵਲੋਂ 30 ਜਨਵਰੀ ਦੇ ਮੁੱਖ ਸਫੇ ‘ਤੇ ਵਿਸ਼ੇਸ਼ ਰਿਪੋਰਟ ਛਾਪੀ ਹੈ, ਜੋ ਕਿ ਧੰਨਵਾਦ ਸਹਿਤ ਪੇਸ਼ ਕੀਤੀ ਜਾ ਰਹੀ ਹੈ :

मोगा।शनिवार रात 9 बजे जिस समय आप सांसद भगवंत मान रैली कर रहे थे, ठीक उसी समय राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी मोगा में थे। लेकिन, न तो वे रैली में आए और न ही सरकारी रेस्ट हाउस में रुके। वे टीचर कॉलोनी की जिस कोठी में ठहरे, वह खालिस्तान कमांडो फोर्स के मुखी रहे एनआरआई गुरिंदर सिंह की है।
गुरिंदर अब इंग्लैंड में रहता है। गुरिंदर के खिलाफ आतंकवाद के दौर में बाघापुराना, मोगा, अमृतसर में कई हत्याएं और आर्म्स एक्ट के केस थे। बाघापुराना मामले में वह बरी हो चुका है। इस कोठी के एक हिस्से में पंजाब पुलिस का एक एसएचओ और नगर निगम के जॉइंट कमिश्नर अपने परिवारों के साथ रह रहे हैं।
डिप्टी सीएम सुखबीर बादल ने रविवार दोपहर पीएम नरेंद्र मोदी की रैली में केजरीवाल के पूर्व आतंकी के घर पर ठहरने का आरोप लगाया था। इस पर भास्कर ने पड़ताल की तो आरोप सही पाया गया। सुखबीर ने कहा कि ये पहला मौका नहीं, जब अरविंद केजरीवाल की गर्मख्याली लोगों के साथ मुलाकात हुई है। इससे पहले भी वे बब्बर खालसा से जुड़ी रही संस्था अखंड कीर्तनी जत्थे के आरपी सिंह के साथ ब्रेकफास्ट कर चुके हैं।
कई मामले दर्ज हुए गुरिंदर पर, बाद में बरी भी हो गया
खालिस्तान कमांडों फोर्स के मुखी रहे गुरिंदर सिंह के खिलाफ कस्बा बाघापुराना इलाके में बम ब्लास्ट करवाने के आरोप में केस दर्ज हुआ था। उसे अदालत ने 7 जनवरी 2003 को भगोड़ा घोषित किया था। इसके कुछ समय बाद गुरिंदर ने सरेंडर कर दिया। लेकिन, इस मामले में वह कोर्ट से बरी हो गया। इसके अलावा मोगा के थाना सिटी-1 में गाए की पूंछ काटकर मंदिर में फेंकने के मामले में एक और केस दर्ज हुआ। इसी तरह का केस अमृतसर में भी दर्ज हुआ। उसके बाद 20 दिसबंर 2011 को बम ब्लास्ट के आरोप में भी केस दर्ज हुआ। सब में बरी हो गया।
ढाई महीने पहले ही गया इंग्लैंड
गुरिंदर काफी समय से धर्मकोट के गांव धर्म सिंह वाला को छोड़कर मोगा की नेस्ले कॉलोनी के नजदीक आकर रहने लगा। पांच साल पहले उसने टीचर कॉलोनी व दशमेश नगर में बने पार्क की बैकसाइड पर 7 नंबर गली में कोठी खरीदी। तब से वह यहीं रह रहा था। ढाई महीने पहले ही वह इंग्लैंड चला गया।
कुक ने की पुष्टि
कोठी के कुक रवि विशाल ने स्वीकारा कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल शनिवार रात एनआरआई गुरिंदर सिंह के एक रिश्तेदार के साथ यहां रुकने आए थे।
आप का जवाब; अकाली दल में तो कई आतंकी ही हैं
आप के पंजाब इंचार्ज संजय सिंह ने कहा कि अकाली दल में तो कई आतंकी ही हैं। जो आतंकवाद के दौर में देश के खिलाफ लड़ते रहे। केजरीवाल के पूर्व आतंकी के घर पर रुकने पर आप के प्रवक्ता ने कहा कि इसमें कोई सच्चाई नहीं है।

Please Click here for Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *